×

MDH, Everest की मुसीबतें बढ़ीं, न्यूज़ीलैंड में भी शुरू हुई जाँच

MDH and Everest : न्यूजीलैंड के खाद्य सुरक्षा नियामक ने कहा है कि वह टॉप भारतीय ब्रांडों एमडीएच और एवरेस्ट के मसाला उत्पादों में संभावित केमिकल मिलावट की जांच कर रहा है। इन दोनों ब्रांड के प्रोडक्ट्स के एपहले से अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया जांच कर रहे हैं।

Neel Mani Lal
Published on: 15 May 2024 11:41 AM GMT
MDH, Everest की मुसीबतें बढ़ीं, न्यूज़ीलैंड में भी शुरू हुई जाँच
X

MDH and Everest : न्यूजीलैंड के खाद्य सुरक्षा नियामक ने कहा है कि वह टॉप भारतीय ब्रांडों एमडीएच और एवरेस्ट के मसाला उत्पादों में संभावित केमिकल मिलावट की जांच कर रहा है। इन दोनों ब्रांड के प्रोडक्ट्स के एपहले से अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया जांच कर रहे हैं, जबकि हांगकांग ने पिछले महीने एमडीएच के तीन मसाला मिश्रणों और एवरेस्ट के एक मसाला मिक्स की बिक्री को निलंबित कर दिया था। सिंगापुर ने भी एवरेस्ट मसाला मिक्स को बाज़ार से वापस बुलाने का आदेश दिया था। ये कार्रवाई इन मसालों में कैंसर पैदा करने वाले कीटनाशक एथिलीन ऑक्साइड का काफी मात्रा में मौजूद होने के कारण की गयी है।

क्या है एथिलीन ऑक्साइड

एथिलीन ऑक्साइड एक रसायन है जो मनुष्यों में कैंसर का कारण बनता है, और न्यूजीलैंड और अन्य देशों में भोजन को कीटाणुरहित करने के लिए इसका उपयोग बंद कर दिया गया है। न्यूजीलैंड खाद्य नियामक के कार्यवाहक उप महानिदेशक जेनी बिशप ने कहा कि चूंकि एमडीएच और एवरेस्ट मसाले न्यूजीलैंड में भी उपलब्ध हैं इसलिए हम इस मुद्दे पर गौर कर रहे हैं। न्यूजीलैंड खाद्य सुरक्षा एजेंसी ने कहा है कि वह इन प्रोडक्ट्स के विदेशी रिकॉल से अवगत है। दूसरी तरफ एमडीएच और एवरेस्ट का कहना है कि उनके उत्पाद उपभोग के लिए सुरक्षित हैं।

वैश्विक जान्छ के बाद भारत में नियामकों ने एमडीएच और एवरेस्ट संयंत्रों का निरीक्षण किया है और नमूने परीक्षण के लिए भेजे हैं, हालांकि परिणाम अभी तक सार्वजनिक नहीं किए गए हैं। दशकों से एमडीएच और एवरेस्ट भारत में घरेलू नाम रहे हैं। उनके उत्पाद अमेरिका, यूरोप, दक्षिण पूर्व एशिया, मध्य पूर्व और ऑस्ट्रेलिया में भी निर्यात किए जाते हैं। यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन डेटा के विश्लेषण से पता चला है कि साल्मोनेला बैक्टीरिया की उपस्थिति के कारण मसालों के शिपमेंट को अस्वीकार कर दिया जा चुका है।

Rajnish Verma

Rajnish Verma

Content Writer

वर्तमान में न्यूज ट्रैक के साथ सफर जारी है। बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय से पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की। मैने अपने पत्रकारिता सफर की शुरुआत इंडिया एलाइव मैगजीन के साथ की। इसके बाद अमृत प्रभात, कैनविज टाइम्स, श्री टाइम्स अखबार में कई साल अपनी सेवाएं दी। इसके बाद न्यूज टाइम्स वेब पोर्टल, पाक्षिक मैगजीन के साथ सफर जारी रहा। विद्या भारती प्रचार विभाग के लिए मीडिया कोआर्डीनेटर के रूप में लगभग तीन साल सेवाएं दीं। पत्रकारिता में लगभग 12 साल का अनुभव है। राजनीति, क्राइम, हेल्थ और समाज से जुड़े मुद्दों पर खास दिलचस्पी है।

Next Story