×

Election 2024 : PM मोदी के ध्यान का TV पर नहीं होने देंगे प्रसारण, ममता ने बोला हमला, चुनाव आयोग से शिकायत करने का ऐलान

Election 2024 : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 मई की शाम चुनावी शोर थमने के बाद कन्याकुमारी में 24 घंटे का ध्यान लगाने वाले हैं। इसी कार्यक्रम का जिक्र करते हुए ममता बनर्जी ने हमला बोला है और कहा है कि वे इस कार्यक्रम का टीवी पर प्रसारण नहीं होने देंगी।

Anshuman Tiwari
Published on: 29 May 2024 12:49 PM GMT
Election 2024 : PM मोदी के ध्यान का TV पर नहीं होने देंगे प्रसारण, ममता ने बोला हमला, चुनाव आयोग से शिकायत करने का ऐलान
X

Election 2024: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की मुखिया ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कन्याकुमारी में प्रस्तावित ध्यान कार्यक्रम को लेकर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का ध्यान कार्यक्रम टीवी पर प्रसारित करना आचार संहिता का उल्लंघन होगा ऐसे में यदि इस कार्यक्रम का टीवी चैनलों पर प्रसारण किया जाता है तो उनकी पार्टी इस मामले में चुनाव आयोग के पास शिकायत दर्ज कराएगी।

उल्लेखनीय के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 मई की शाम चुनावी शोर थमने के बाद कन्याकुमारी में 24 घंटे का ध्यान लगाने वाले हैं। इसी कार्यक्रम का जिक्र करते हुए ममता बनर्जी ने हमला बोला है और कहा है कि वे इस कार्यक्रम का टीवी पर प्रसारण नहीं होने देंगी।

टीवी चैनलों पर नहीं होने देंगे प्रसारण

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के ध्यान लगाने पर कोई रोक नहीं है। वे ध्यान लगा सकते हैं मगर देश के टीवी चैनल इसका टेलीकास्ट नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि सातवें चरण का चुनाव प्रचार समाप्त होने और मतदान की तारीख के बीच की अवधि के दौरान यह प्रचार करने का अलग तरीका है।

देशभर में चुनाव आचार संहिता लागू है और प्रधानमंत्री मोदी का ध्यान कार्यक्रम दिखाना चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन होगा। उन्होंने प्रधानमंत्री के कार्यक्रम पर हमला बोलते हुए कहा कि क्या किसी के ध्यान कार्यक्रम को किसी कैमरे की जरूरत होती है? यदि इस ध्यान कार्यक्रम का टीवी चैनलों पर प्रसारण किया जाता है तो हमारी पार्टी चुनाव आयोग से शिकायत करेगी।

कन्याकुमारी में ध्यान लगाएंगे प्रधानमंत्री मोदी

देश में लोकसभा चुनाव के सातवें और आखिरी चरण का मतदान 1 जून को होने वाला है और इसके लिए चुनावी शोर 30 जून की शाम को थम जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 मई को अपनी अंतिम चुनावी सभा में भाषण करने के बाद कन्याकुमारी रवाना हो जाएंगे।


प्रधानमंत्री मोदी 30 मई की शाम से एक जून की शाम तक कन्याकुमारी स्थित ध्यान मंडपम में साधना में लीन रहेंगे। प्रधानमंत्री के ध्यान लगाने का यह स्थान भी बेहद खास है क्योंकि यहीं पर स्वामी विवेकानंद ने भी तीन दिनों तक साधना की थी।

ध्यान लगाने का प्रधानमंत्री का यह पहला मौका नहीं होगा। प्रधानमंत्री मोदी इससे पहले केदारनाथ में भी ध्यान लगा चुके हैं। तृणमूल कांग्रेस की मुखिया ममता बनर्जी अब कन्याकुमारी के कार्यक्रम को लेकर प्रधानमंत्री मोदी पर हमलावर हो गई हैं।

हर चुनाव में आखिरी चरण से पहले ध्यान कार्यक्रम

टीएमसी मुखिया ने कहा के प्रधानमंत्री मोदी हर लोकसभा चुनाव में आखिरी चरण के मतदान से 48 घंटे पहले ध्यान लगाने चले जाते हैं और इसके पीछे बहुत बड़ी राजनीति है। इसीलिए मैंने इस मुद्दे पर विरोध जताने का फैसला किया है। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री मोदी ने 2019 के लोकसभा चुनाव के समय आखिरी चरण के मतदान से पहले केदारनाथ की गुफा में ध्यान लगाया था।

पश्चिम बंगाल में आखिरी चरण के मतदान से पहले ममता बनर्जी भाजपा पर तीखा हमला करने में जुटी हुई है। पश्चिम बंगाल में आखिरी चरण में 1 जून को 9 सीटों पर मतदान होने वाला है और इनमें ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी की डायमंड हार्बर लोकसभा सीट भी शामिल है।

विपक्षी गठबंधन की सरकार को टीएमसी का समर्थन

ममता बनर्जी ने कहा कि यदि केंद्र में इस बार भाजपा अपनी सरकार बनाने में कामयाब हो गई तो सभी राजनीतिक दल, धर्म, मानवता, संस्कृति सबकुछ समाप्त हो जाएगा। उन्होंने एक बार फिर कहा कि दिल्ली में विपक्षी गठबंधन की सरकार बनने पर हमारी पार्टी उसे समर्थन देगी। पश्चिम बंगाल में इन दिनों भाजपा और टीएमसी के बीच जबर्दस्त घमासान छिड़ा हुआ है और दोनों दलों ने एक-दूसरे के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है।

Rajnish Verma

Rajnish Verma

Content Writer

वर्तमान में न्यूज ट्रैक के साथ सफर जारी है। बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय से पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की। मैने अपने पत्रकारिता सफर की शुरुआत इंडिया एलाइव मैगजीन के साथ की। इसके बाद अमृत प्रभात, कैनविज टाइम्स, श्री टाइम्स अखबार में कई साल अपनी सेवाएं दी। इसके बाद न्यूज टाइम्स वेब पोर्टल, पाक्षिक मैगजीन के साथ सफर जारी रहा। विद्या भारती प्रचार विभाग के लिए मीडिया कोआर्डीनेटर के रूप में लगभग तीन साल सेवाएं दीं। पत्रकारिता में लगभग 12 साल का अनुभव है। राजनीति, क्राइम, हेल्थ और समाज से जुड़े मुद्दों पर खास दिलचस्पी है।

Next Story