×

चुनाव की बातें : महिला उम्मीदवारों के मामले में हरियाणा ने पंजाब को पछाड़ा

Election 2024 : पंजाब में चार प्रमुख दलों ने लोकसभा चुनाव के लिए केवल छह महिला उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है। इनमें से भाजपा ने तीन, कांग्रेस ने दो और शिरोमणि अकाली दल ने एक महिला उम्मीदवार को चुना है जबकि आप ने किसी भी महिला उम्मीदवार को मैदान में नहीं उतारा है

Neel Mani Lal
Published on: 15 May 2024 11:49 AM GMT
चुनाव की बातें : महिला उम्मीदवारों के मामले में हरियाणा ने पंजाब को पछाड़ा
X

Election 2024 : पंजाब में चार प्रमुख दलों ने लोकसभा चुनाव के लिए केवल छह महिला उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है। इनमें से भाजपा ने तीन, कांग्रेस ने दो और शिरोमणि अकाली दल ने एक महिला उम्मीदवार को चुना है जबकि आप ने किसी भी महिला उम्मीदवार को मैदान में नहीं उतारा है। वहीँ पड़ोसी राज्य हरियाणा में विभिन्न पार्टियों ने 16 महिलाओं को प्रत्याशी बनाया है।

- आम आदमी पार्टी ने सबसे पहले पंजाब की सभी 13 लोकसभा सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा की थी लेकिन उसने किसी भी महिला को टिकट नहीं दिया है।

- भाजपा की तीन महिला उम्मीदवार हैं - पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह की पत्नी परनीत कौर जो पटियाला से मैदान में हैं, होशियारपुर (सुरक्षित) से केंद्रीय राज्य मंत्री सोम प्रकाश की पत्नी अनीता सोम प्रकाश; और बठिंडा से पूर्व आईएएस अधिकारी परमपाल कौर सिद्धू जो अकाली दल नेता एसएस मलूका की बहू हैं।

- कांग्रेस की दो महिला उम्मीदवार हैं - होशियारपुर से यामिनी गोमर और फरीदकोट से अमरजीत कौर साहोके। दोनों आरक्षित सीटें हैं। साहोके एक पूर्व सरकारी स्कूल शिक्षिका हैं जिन्होंने 2013 में अपनी नौकरी से इस्तीफा दे दिया था और शिअद में शामिल हो गईं और जिला परिषद सदस्य के रूप में चुनी गईं। वह 2013 से 2018 तक जिला परिषद की अध्यक्ष भी रहीं। उन्होंने 2017 में जगराओं से विधानसभा चुनाव लड़ा लेकिन हार गईं। फिर उन्होंने शिअद छोड़ दिया और कांग्रेस में शामिल हो गईं। 49 वर्षीय गोमर होशियारपुर से आप उम्मीदवार थीं और तीसरे स्थान पर रहीं थीं। उन्होंने 2016 में आप से इस्तीफा दे दिया और कांग्रेस में शामिल हो गईं।

- शिरोमणि अकाली दल ने पार्टी अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल की पत्नी सांसद हरसिमरत कौर बादल को चौथी बार बठिंडा से मैदान में उतारा है। पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत ने 2009 के लोकसभा चुनाव में बठिंडा से अमरिन्दर सिंह के बेटे रनिंदर सिंह को हराया था। उन्होंने 2014 में अपने बहनोई कांग्रेस के मनप्रीत सिंह बादल और 2019 में वर्तमान पंजाब कांग्रेस प्रमुख अमरिंदर सिंह राजा वारिंग को हराया।

- यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि आप ने संसदीय चुनाव में किसी भी महिला को प्रतिनिधित्व नहीं दिया है।

हरियाणा की स्थिति

- हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनुराग अग्रवाल ने बताया है कि नामांकन वापस लेने के बाद, राज्य की 10 लोकसभा सीटों के लिए 16 महिलाओं सहित 223 उम्मीदवार चुनाव में बचे हैं। हिसार में सबसे अधिक महिला उम्मीदवार हैं - 28 में से तीन। कुरूक्षेत्र में सबसे अधिक 31 महिला उम्मीदवार हैं, लेकिन केवल एक महिला है। अंबाला में दो महिलाओं समेत 14 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। सिरसा में 19 उम्मीदवारों में एक महिला शामिल हैं. करनाल से दो, रोहतक से दो, भिवानी-महेंद्रगढ़ से दो, गुड़गांव से एक और फरीदाबाद से दो महिला उम्मीदवार मैदान में हैं।

- हरियाणा में भाजपा ने अंबाला (सुरक्षित) से बंतो कटारिया को और कांग्रेस ने पूर्व केंद्रीय मंत्री और पूर्व राज्य इकाई अध्यक्ष कुमारी शैलजा को सिरसा से टिकट दिया है। इनेलो ने हिसार से सुनैना चौटाला को उम्मीदवार बनाया है और उनका मुकाबला अपनी चचेरी भाभी नैना सिंह चौटाला से है।

Rajnish Verma

Rajnish Verma

Content Writer

वर्तमान में न्यूज ट्रैक के साथ सफर जारी है। बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय से पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की। मैने अपने पत्रकारिता सफर की शुरुआत इंडिया एलाइव मैगजीन के साथ की। इसके बाद अमृत प्रभात, कैनविज टाइम्स, श्री टाइम्स अखबार में कई साल अपनी सेवाएं दी। इसके बाद न्यूज टाइम्स वेब पोर्टल, पाक्षिक मैगजीन के साथ सफर जारी रहा। विद्या भारती प्रचार विभाग के लिए मीडिया कोआर्डीनेटर के रूप में लगभग तीन साल सेवाएं दीं। पत्रकारिता में लगभग 12 साल का अनुभव है। राजनीति, क्राइम, हेल्थ और समाज से जुड़े मुद्दों पर खास दिलचस्पी है।

Next Story